Aloe vera के सेवन से वायुजनित रोग, पेट के रोग, जोडों के दर्द, अल्सर, अम्लपित्त आदि बीमारियां दूर हो जाती हैं. एलोवेरा को उत्तम रक्त शोधक व पाचन क्रिया के लिए गुणकारी माना जाता है. एलोवेरा का जूस पीने से कई वीमारियों का निदान तो होता ही है, साथ ही रोगप्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है.

बाजार से मंहगा एलोवेरा जूस खरीदने की ज़रूरत नहीं. घर पर ही एलोवेरा का ताज़ा व शुद्ध जूस बनाएं, जिसकी कोई भी कीमत नहीं चुकानी पड़ेगी और टॉनिक भी बिलकुल प्राकृतिक बनेगी.


1. एलोवेरा जूस के लिए आप को ताज़े पुष्ट aloevera के पत्ते लेने चाहिए जो गूदे से भरपूर हों.

2. इन पत्तों को मूल से लगभग एक इंच उपर काट लें.

3. काटने पर इनमें से लेसनुमा पदार्थ बाहर निकलेगा जो कुछ पत्तों में पीलापन लिए भी हो सकता है.

4. ये पीलेपन वाला gel एक विशेष गंध युक्त होता है, जिसे आप चाहें तो अगला एक इंच भाग काट कर अलग कर सकते हैं. अन्यथा नहीं.

5. कटे पत्तों की किनारियाँ जो कांटेदार होती हैं, हलके से चाकू चला कर अलग कर दें.

6. पत्ते के एक तरफ (अगला या पिछला) का छिलका भी छ्रुरी या आलू peeler से अलग कर दें जिससे गूदा दूसरे भाग पर रह जायेगा.

7. पत्ते के दुसरे भाग से गूदे को किसी चम्मच से अलग खुरच कर इकठ्ठा कर लें.

8. इस गूदे को समभाग पानी मिलाकर मिक्सर में घुमाना भर है, कि सारा गूदा जूस बन जाए.

9. और ये लीजिये, जूस तैयार.
10. स्वाद बढाने के लिये नीम्बू रस, अदरक, कालीमिर्च, पुदीना, नमक इत्यादि या शक्कर भी मिला सकते हैं.

इस ताजे जूस को आप एक से चार सप्ताह भर तक फ्रिज में रख सकते हैं, फिर पुनः नया व ताजा जूस दोबारा बना लीजिये. बस ध्यान रखें की इस जूस को fungus इत्यादि न लग जाए, जो अलग से दिखने लगती है.

यदि आप इसे अधिक समय तक रखना चाहें तो इसमें सेव का सिरका या नीम्बू का रस भी मिला सकते हैं.

एलोवेरा जूस उपयोग में विशेष सावधानी 
Aloe vera का जूस पेट में मरोड़ या पेचिश जैसी अनुभूति दे सकता है. यदि आप इसमें अदरक, अजवायन, पुदीना, कोई भी एक चीज़, का समावेश कर दें तो ये बिलकुल सौम्य पेय बन जाता है.
उपयोग विधि, मात्रा (Aloe vera juice dosage)

इस जूस की 30 से 50 मिलीलिटर मात्रा सुबह खाली पेट लें. दिन-भर शरीर में चुस्ती व स्फूर्ति बनी रहती है.

एलोवेरा के स्वास्थ्य लाभ (Health benefits)
1. एलोवेरा का जूस पीने से कब्ज से राहत मिलती है.

2. मेहंदी में मिलाकर बालों में लगाने से बाल चमकदार व स्वस्थ्य होते हैं.

3. शरीर में शुगर का स्तर उचित रूप से बना रहता है.

4. बवासीर, डायबिटीज, गर्भाशय के रोग व पेट के विकारों को दूर करता है.

5. एलोवेरा जूस पीने से त्वचा की खराबी, मुहांसे, रूखी त्वचा, धूप से झुलसी त्वचा, झुर्रियां, चेहरे के दाग धब्बों, आखों के काले घेरों को दूर किया जा सकता है.

6. एलोवेरा जूस पीने से मच्छर काटने पर फैलने वाले इन्फेक्शन को कम किया जा सकता है.

7. रक्त शोधन करता है साथ ही हीमोग्लोबिन की कमी को पूरा करता है. शरीर में वहाईट ब्लड सेल्स की संख्या बढाता है.

8. त्वचा की नमी को बनाए रखता है जिससे त्वचा स्वस्थ रहती है. यह स्किन के कोलाजन और लचीलेपन को बढाकर इसे जवान और खूबसूरत बनाता है.

9. नियमित सेवन से त्वचा भीतर से खूबसूरत बनती है और बढती उम्र से त्वचा पर होने वाले कुप्रभाव भी कम होते हैं.

10. हर रोज एलोवेरा जूस लेने से शरीर के जोडों के दर्द को कम किया जा सकता है ।

loading...
loading...