loading...

अस्थमा का आयुर्वेदिक इलाज, asthma ka ayurvedic ilaj

asthma ka ayurvedic ilaj
asthma ka ayurvedic ilaj 

अस्थमा एक फेफड़े की बीमारी है जो साँस लेने में कठिनाई का कारण बनता है। फेफड़ों में हवा के प्रवाह में रुकावट होने पर अस्थमा अटैक होता है।

अस्थमा के कारण

एलर्जी, वायु प्रदूषण, धूम्रपान और तंबाकू, श्वसन संक्रमण, जेनेटिक्स (आनुवांशिक), मौसम के कारण, मोटापा, तनाव
अस्थमा (दमा) के लक्षण
साँस लेने में तकलीफ, सीने में जकड़न या दर्द, खाँसी, घरघराहट, लगातार सर्दी और खांसी

अस्थमा के घरेलू नुस्खे

अदरक का रस, अनार का रस और शहद को बराबर मात्रा में मिलाएं। इस मिश्रण का एक चम्मच दिन में दो या तीन बार सेवन करें।

asthma ke gharelu upchar

नींबू में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता हैं जो अस्थमा के इलाज में सहायक होता है। एक गिलास पानी में आधा नींबू का रस निचोड़ लें और उसमें अपने स्वाद के अनुसार चीनी मिलाकर पीयें।

अस्थमा का आयुर्वेदिक इलाज

आंवला दमा के उपचार के लिए एक अच्छा उपाय है। आंवला को कुचलकर उसमें थोड़ा सा शहद मिलाएं और सेवन करें।

अस्थमा का आयुर्वेदिक नुस्खे

तीन सूखे अंजीर को धो लें और रात भर एक कप पानी में भिगोएँ। सुबह में खाली पेट अंजीर खा लें और अंजीर का पानी पीयें।
dama khansi ka ilaj
एक चम्मच शहद में आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर रात में सोने से पहले सेवन करें। यह गले से कफ को निकालने में मदद करता है और इससे अच्छी नींद आती है।
asthma rog in hindi
प्याज में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुण दमा के इलाज में मदद करता है। प्याज को सलाद के रूप में या सब्जियों में पकाकर खा सकते है।
asthma ke gharelu upchar
एक गिलास गर्म दूध में जैतून का तेल और शहद को बराबर मात्रा में मिलाएं। इसमें कुछ लहसुन की कली डालकर नाश्ता करने से पहले सेवन करें।
dama khansi ka ilaj
संतरा, पपीता, ब्लूबेरी और स्ट्रॉबेरी भी अस्थमा के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं।
asthma ka ilaj
पानी में एक चम्मच अजवाइन डालकर उबाल लें और इसका भाप लें। आप चाहे तो इसे पी भी सकते है।
अपने आहार में अधिक ताजा फल और सब्जियों को शामिल करें।

loading...
Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: