बच्चे के जन्म के बाद पेट पर पड़े निशानों को दूर करने के आयुर्वेदिक इलाज

जब महिला के पेट में बच्चा पलता है, तब उस महिला के पेट का आकर धीरे धीरे बढ़ने लगती है और स्त्री के पेट के नीचले हिस्से पर खिचाव होने लगता है. साथ ही प्रेग्नेंट लड़की की त्वचा भी पूरी खीच जाती है. इसके अलावा प्रेग्नेंट महिला के जांघो पर, कूल्हे पर और सीने के हिस्से पर भी काफी ज़्यादा दबाव पड़ता है.
बच्चे का जन्म होने के बाद अपने आप ही प्रेग्नेंट लड़की के अंगो पर से खिचाव कम होता है, वैसी ही लड़की की त्वचा पहले जैसी होने लगती है. बच्चे का जन्म होने के बाद त्वचा पहले जैसी तो हो जाती है लेकिन उस महिला के पेट के नीचले हिस्से में और दोनों जांघो और कूल्हे पर स्ट्रेच मार्क्स रह जाते है.
ज्यादातर स्त्रियों को ये स्ट्रेच मार्क्स बच्चे का जन्म होने के कुछ समय बाद अपने आप ही धीरे धीरे साफ़ हो जाते है. लेकिन बहुत बार ये स्ट्रेच मार्क्स अपने आप नहीं जाते है. इसीलिए आज हम आप लोगों को कुछ ऐसे तरीके के बारे में बताने जा रहे है. जिसका इस्तेमाल करके आप आप स्ट्रेच मार्क्स के निशानों से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है.

डिलीवरी के बाद पेट का कालापन कैसे दूर करे

अगर आप इस स्ट्रेच मार्क्स को मिटाना चाहती है, तो ओलिव ऑइल यानि की जैतून का तेल लीजिये और अपने स्ट्रेच मार्क्स इस जैतून के तेल से मालिश कीजिये. इस तेल से रोज़ाना मालिश करने से डिलीवरी के 30 से 45 दिन के अन्दर ही सभी स्ट्रेच मार्क्स के दाग चाले जाते है. जैतून के तेल से निशान तो जाते ही है साथ ही इससे आप प्रेग्नेंट लड़की की हड्डियों पर भी मालिश कर सकते है क्यूंकि इस तेल से हड्डियां भी मजबूत होती है.

प्रसव के बाद शरीर के कालापन दूर करने के उपाय

प्रेगनेंसी के बाद होने वाले स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के लिए सबसे पहले आलू को मिक्सर में पीसकर आलू का रस निकाल लीजिये। आलू का रस निकालने के बाद उस रस को खिचाव वाले निशानों पर लगा लीजिये। आलू का रस लगाने के बाद उसे सूखने के लिए छोड़ दीजिये. सूखने के बाद हलके गर्म पानी से धो लीजिये। ऐसा करने से कुछ ही महीनो में स्ट्रेच मार्क्स अपने आप ही साफ़ हो जायेंगे

डिलीवरी के बाद निकला पेट अंदर करने का उपाय

मेथी के बीज पेट कम करने में काफी मददगार होते हैं. साथ ही यह महिलाओं में हार्मोन को संतुलित रख कर पेट कम करते हैं. रात के समय में 1 चम्मच मेथी के बीजों को 1 ग्लास पानी में उबालें. पानी को हल्का गुनगुना होने पर पीएं. पेट जल्दी कम हो जाएगा.

नॉर्मल डिलीवरी के बाद पेट कम करना

बच्चे को स्तनपान जरूर कराएं. एक स्टडी के मुताबिक, स्तनपान कराने से शरीर में मौजूद फैट सेल्स और कैलोरीज दोनों मिलकर दूध बनाने का का काम तरते हैं. जिससे बिना कुछ करे ही वजन कम हो जाता है.

Post a Comment

loading...